यंत्रYantra

भारतीय ज्योतिष विद्या में ग्रहों की शांति और मनचाहे फल पाने के लिए कई चमत्कारी उपायों का वर्णन किया गया है। इन्हीं उपायों में से एक यंत्रो (Yantra mat) का इस्तेमाल करना है।
यंत्र क्या होते हैं? (What Is Yantra) : जब किसी कागज, भोजपत्र या किसी अन्य सतह पर मंत्र या तंत्र को गणितीय प्रणाली से चित्रों द्वारा दर्शाया जाता है तो वह एक यंत्र कहलाता है। मान्यता है कि यंत्रों में मंत्रों के साथ दिव्य अलौकिक शक्तियां समाई होती हैं। इनके द्वारा इंसान अपनी इच्छानुसार संसारिक शक्तियां ग्रहण कर सकता है।
Types of Yantra: यंत्र कई प्रकार के होते हैं जैसे श्री यंत्र, संतान प्राप्ति के लिए गोपाल संतान यंत्र, धन प्राप्ति के लिए कुबेर और धनलक्ष्मी यंत्र आदि। कुछ यंत्र वैदिक तो कुछ तांत्रिक होते हैं। यंत्रों में सबसे अधिक महत्व इसमें लिखे अंको और मंत्रो का होता है। इन्हीं अंको के आधार पर इन यंत्रो की उपयोगिता होती है। इस श्रृंखला में आपको केवल वैदिक यंत्रों से परिचित कराएंगे जैसे:
काल सर्प यंत्र (Kaal Sarp Yantra), कुबेर यंत्र (Kuber Yantra), गणेश यंत्र (Ganesh Yantra), संतान गोपाल यंत्र (Gopal Santan Yantra), नवग्रह यंत्र (Navgrah Yantra), सम्मोहन या आकर्षण यंत्र (Sammohan or Aakarshan Yantra), नवदुर्गा यंत्र (Navdurga Yantra), श्री यंत्र (Shree Yantra) आदि।
[+]

काल सर्प यंत्र

काल सर्प योग:
काल सर्प योग को सबसे प्रबल और दुखदायी योग माना जाता है। कुंडली में जब सभी ग्रह राहु और केतु के बीच हो तो यह योग होता है। जब नक्षत्रों की हेर-फेर के कारण सभी ग्रह राहू व केतू के बीच फंस जाते हैं, तो ऐसी स्थिति का योग अत्यंत ही दुखदाई व दुष्प्रभावशाली होता है। पूरा पढ़ें»

श्री गणेश यंत्र

भगवान गणेश सर्वप्रथम पूजनीय माने जाते हैं। भगवान शिव की तरह वह भी भोले हैं, तथा उनकी दया दृष्टि पानाबेहद आसान है। श्री गणेश यंत्र (Shree Ganesh Yantra) एक ऐसा चमत्कारी यंत्र है, जिसकी सहायता से जातकके जीवन पर सदा गणेश जी की दया दृष्टि बनी रहती है। पूरा पढ़ें»

संतान गोपाल यंत्र

आधुनिकता के इस दौर में तमाम चिकित्सीय पद्धतियां होने के बावजूद भी विज्ञान कई निःसंतान दंपत्तियों की मदद नहीं कर पाता, लेकिन भारतीय ज्योतिष विज्ञान के अनुसार संतान गोपाल यंत्र (Santan Gopal Yantra) की पूजा करने से ऐसे दंपत्तियों को संतान सुख अवश्य प्राप्त होता है। पूरा पढ़ें»

व्यापार वृद्धि यंत्र

आधुनिकता के इस दौर में तमाम चिकित्सीय पद्धतियां होने के बावजूद भी विज्ञान कई निःसंतान दंपत्तियों की मदद नहीं कर पाता, लेकिन भारतीय ज्योतिष विज्ञान के अनुसार संतान गोपाल यंत्र (Santan Gopal Yantra) की पूजा करने से ऐसे दंपत्तियों को संतान सुख अवश्य प्राप्त होता है। पूरा पढ़ें»

वशीकरण यंत्र

वशीकरण मंत्र का प्रयोग लोगों को वश में करने या उन्हें अपनी और आकर्षित करने के लिए किया जाता है। धार्मिक मान्यता के अनुसार वशीकरण या आकर्षण यंत्र एक तांत्रिक यंत्र माने जाते हैं। पूरा पढ़ें»

श्री यंत्र

श्री यंत्र को सबसे महान और सर्वाधिक फल देने वाला यंत्र माना जाता है। कई लोग श्री यंत्र को लक्ष्मी यंत्र भी मानते हैं। धार्मिक मान्यतानुसार श्री यंत्र के पूजन से धन आगमन के रास्ते खुलते हैं। पूरा पढ़ें»

श्री नवदुर्गा यंत्र

नवदुर्गा के विषय में सबसे सटिक भविष्यवाणी मार्कण्डेय पुराण में की गई है। इस पुराण में नवदुर्गा को प्रसन्न करने के लिए श्री नवदुर्गा यंत्र की पूजा का विधान बताया गया है। पूरा पढ़ें»

वास्तु दोष निवारक यंत्र

वास्तु और फेंग शुई के प्रचार ने लोगों को वास्तु दोष के प्रति बेहद जागरुक बना दिया है। हालांकि लोगों की जागरुकता कई बार अंधविश्वास का रूप ले लेती है जिसका ठग और धूर्त लोग फायदा उठाते हैं। पूरा पढ़ें»

महामृत्युंजय यंत्र

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार महामृत्युंजय मंत्र (Mahamrityunjaya Yantra) का जाप अकाल मृत्यु के योग को भी दूर कर देता है। भगवान शिव के इस मंत्र को सबसे शक्तिशाली माना जाता है। पूरा पढ़ें»

शनि शांति यंत्र

शनि को न्याय का देवता माना जाता है। शनि किसी भी कुंडली में सबसे लंबे समय तक प्रभावित करने वाले ग्रह माने जाते हैं। शनि की साड़ेसाती और ढैय्या में जातक को अपने कार्यों का उचित फल नहीं मिल पाता, दुर्घटनाओं और परेशानियों से उसका जीवन कष्टकारी हो जाता है। पूरा पढ़ें»

मंगल यंत्र

कुंडली में मांगलिक दोष होने की वजह से अकसर लोगों की शादी-ब्याह, संतान प्राप्ति आदि में समस्याएं आती हैं। इस दोष से बचने के यूं तो कई उपाय है लेकिन सबसे बेहतरीन उपाय मंगल यंत्र की स्थापना और पूजा को माना गया है। पूरा पढ़ें»

महालक्ष्मी यंत्र

माता लक्ष्मी को इस संसार में भौतिक सुखों को प्रदान करने वाली देवी के रूप में पूजा जाता है। माता लक्ष्मी की पूजा और उन्हें प्रसन्न करने के लिए ही महालक्ष्मी यंत्र (Shree Mahalaxmi Yantra) की पूजा और स्थापना की जाती। पूरा पढ़ें»

सरस्वती यंत्र

कलियुग में धन सबसे अहम है, लेकिन धन से भी अहम है ‘शिक्षा’। वैदिक शास्त्र माता सरस्वती को विद्या की देवी माना जाता है। सरस्वती जी की कृपा पाने वाले जातक के जीवन में कभी अंधकार नहीं होता। सरस्वती जी की साधना का आसान तरीका सरस्वती यंत्र (Saraswati Yantra in Hindi) की पूजा है। पूरा पढ़ें»

नवग्रह शांति यंत्र

वैदिक ज्योतिष के अनुसार मनुष्य के भाग्य को सबसे अधिक प्रभावित उसकी कुंडली में मौजूद ग्रह करते हैं। अगर कुंडली में कोई भी ग्रह अशुभ हो तो वह जातक को सफल होने से रोक सकता है। ऐसी स्थिति में सबसे बेहतरीन उपाय ग्रहों की शांति हेतु पूजा करवाना होता है। पूरा पढ़ें»

नामांक बताएगा आपका भविष्य

नामांक भविष्यफल जानने का आसान तरीका
माना जाता है। अपना नामांक जानने के
लिए यहां अपना नाम दर्ज करें

Love Meter

लव मीटर

ताज़ा ख़बर

शब्दकोश

word of the day