होटल एवं रेस्टोरेन्ट के लिए वास्तु टिप्स - Hotel Aur Restaurant Ke Liye Vastu Tips

होटल एवं रेस्टोरेन्ट के लिए वास्तु टिप्स - Hotel Aur Restaurant Ke Liye Vastu Tips

  • होटल एवं रेस्टोरेन्ट बनाने के लिए भूमि का भाग चौकोर और सिंहमुखी हो तो यह वास्तुशास्त्र के अनुसार अच्छा माना जाता है।

  • वास्तुशास्त्र के मुताबिक होटल का निर्माण इस तरीके से किया जाना चाहिए कि, इसकी ऊंचाई दक्षिण-पश्चिम दिशा की ओर अधिक ऊंची हो और उत्तर-पूर्व दिशा की तरफ से इसकी ऊंचाई कम हो।

  • होटल में यात्रियों को ठहरने के लिए बनाए गए कमरे पश्चिम और दक्षिण दिशा की ओर होना चाहिए। कमरे का द्वार पूर्व या उत्तर दिशा की ओर होना चाहिए।

  • वास्तु नियमों के अनुसार कमरों के अंदर शौचालय, स्नान घर, पलंग टी.वी आदि आवासनिय भवन के शयन कक्ष के अनुरूप होना चाहिए।

  • होटल एवं रेस्टोरेन्ट के किचन दक्षिण पूर्व दिशा में और भोजन कक्ष भूमितल पर दक्षिण या पश्चिम में बनाना उचित माना जाता है।

  • वास्तुशास्त्र की दृष्टि से होटल एवं रेस्टोरेन्ट में खान-पाने का कक्ष या कैफेटेरिया पश्चिम या दक्षिण दिशा में होना चाहिए।

  • होटल का स्वागत कक्ष या रिसेपशन प्रवेशद्वार के नजदीक पश्चिम या दक्षिण में इस प्रकार बनाए जाने चाहिए ताकि स्वागतकर्ता का मुंह उत्तर या पूर्व दिशा की तरफ हो।

Last updated