वास्तु उपायVastu Upay

1. वास्तु शास्त्र के अनुसार दुकान या शोरुम का मुख्य दरवाजा यदि पूर्व या उत्तर दिशा की तरफ हो तो यह व्यापार के लिए लाभकारी माना जाता है। यदि पूर्व या उत्तर की ओर द्वारा बनाना सम्भव ना हो तो, दुकान का मुख पश्चिम की तरफ भी किया जा सकता है।
2. दुकान के अंदर बिक्री का सामान रखने के लिए सैल्फ, अलमारियां, शोकेस और कैश काउंटर दक्षिण और पश्चिम दिशा में बनाना अच्छा माना जाता है।
3. दुकान के ईशान कोण (उत्तर-पूर्व दिशा) में मंदिर या इष्टदेव की फोटो को लगाया जा सकता है। इसके अलावा इस हिस्से में पीने का पानी भी रखा जा सकता है।
4.वास्तु शास्त्र के मुताबिक बिजली के उपकरणों को रखने या स्विच बोर्ड लगाने के लिए दुकान का दक्षिण-पूर्व हिस्सा उचित माना जाता है।
5. दुकान के काउंटर पर खड़े विक्रेता का मुंह पूर्व या उत्तर की ओर और ग्राहक का मुंह दक्षिण या पश्चिम की ओर होना बेहतर माना जाता है।
6. वास्तु शास्त्र के अनुसार शोरुम या दुकान का कैशबाक्स हमेशा दक्षिण और पश्चिम दीवार के सहारे होना उपयुक्त माना जाता है।

7. वास्तु शास्त्र के अनुसार दुकान के मालिक या मैनेजर को दुकान के दक्षिण-पश्चिम दिशा में बैठना चाहिए।
8. दुकान में कैश काउंटर, मालिक या मैनेजर के स्थान के ऊपर कोई बीना ना हो तो, यह वास्तु शास्त्र की दृष्टि से अच्छा समझा जाता है।
[+]

पूजा घर

हिन्दू धर्म पूर्णत: आस्था पर केन्द्रित माना जाता है। अमूमन हर हिन्दू घर में पूजा-पाठ करने का एक स्थान अवश्य होता है। लेकिन घर में मंदिर या पूजा-पाठ के लिए स्थान बनवाते समय जाने-अनजाने और अज्ञान के अभाव में कई बार लोगों से छोटी-मोटी गलतियां हो जाती हैं।

दुकान

वास्तु शास्त्र के अनुसार दुकान या शोरूम की शुरूआत करने के लिए विशेष नियम बताए गए हैं, जो एक प्राचीन रहस्य है। व्यक्ति की सफलता उसकी मेहनत व आय पर निर्भर होती है। मान्यता है कि सफल कारोबार के लिए मनुष्य को अपने कार्यस्थल के वास्तु का भी ध्यान रखना चाहिए।

किचन

वास्तुशास्त्र के अनुसार घर का किचन दक्षिण-पूर्व दिशा में बनाना सर्वोत्तम माना जाता है। यदि ऐसा ना हो सके तो किचन को पूर्व दिशा में भी बनाया जा सकता है।

बेडरूम

वास्तुशास्त्र आधुनिक युग में घर के निर्माण के समय बहुत महत्वपूर्ण स्थान रखता है। माना जाता है कि यदि वास्तुशास्त्र के अनुसार घर बनवाया जाए तो, यह दुख, दरिद्रता बीमारियां आदि से हमें दूर रखता है। बेडरूम यदि वास्तुशास्त्र के अनुसार हो तो घर में शांति और खुशहाली रहती है। घर में बेडरूम बनवाते समय वास्तु कुछ इस प्रकार होना चाहिए।

शौचालय

आधुनिक युग में सभी लोग घर बनाते समय वास्तु का पूरा ध्यान रखते है। माना जाता है कि यदि घर में हर चीज वास्तु शास्त्र के अनुसार हो तो खुशहाली आती है और वास्तु के अनुसार न हो तो घर में दुख तथा अनिद्रा, पेट दर्द, डायबटीज़, ब्लडप्रेशर जैसी गंभीर बिमारियों का वास होता है।

ऑफिस

  • वास्तु शास्त्र के अनुसार ऑफिस का प्रवेश द्वार यानि मेन डोर पूर्व या उत्तर दिशा में रखना शुभ माना जाता है।
  • ऑफिस का रिसेप्शन काउंटर बाईं तरफ और इंतजार करने का स्थान दाहिनी ओर हो तो वास्तु की दृष्टि में यह बहुत अच्छा माना जाता है।

घर

1. घर में हवा और प्राकृतिक रोशनी की व्यवस्था होनी चाहिए।
2. शयनकक्ष की व्यवस्था इस तरह होनी चाहिए कि सोते समय पांव उत्तर और सर दक्षिण दिशा में हो।
3. टॉयलेट हमेशा पश्चिम दिशा में बनाना चाहिए।
4. घर में पूजा स्थल बनाना हो तो वह उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए। घर में पूजा स्थल तो होना चाहिए लेकिन शिवालय नहीं। आप चाहें तो शिवजी की मूर्ति अवश्य रख सकते हैं।

गृह-सज्जा

बच्चों का कमरा उत्तर–पूर्व दिशा में होना चाहिए। अगर बच्चों के पढ़ने का कमरा अलग है तो वह दक्षिण दिशा में होना चाहिए। स्टडी रूम में देवी सरस्वती की तस्वीर या मूर्ति लगाई जा सकती है। बच्चों के कमरे की दीवारों का रंग हल्का होना चाहिए।

अस्पताल एवं नर्सिंग होम

  • वास्तुशास्त्र के अनुसार अस्पताल बनाते समय उसके बाहर का स्थान खुला रखना उचित होता है। आपात स्थिति में ऐसी सुविधा लोगों के लिए फायदेमंद साबित होती है।
  • अस्पताल का प्रवेश द्वार, रिसेप्शन, कैश काउंटर शौचालय, पार्किंग आदि दक्षिण-पश्चिम दिशा में बनाया जा सकता है।

होटल एवं रेस्टोरेन्ट

  • होटल एवं रेस्टोरेन्ट बनाने के लिए भूमि का भाग चौकोर और सिंहमुखी हो तो यह वास्तुशास्त्र के अनुसार अच्छा माना जाता है।

प्लॉट

प्लॉट के लिए वास्तु टिप्स (Vastu tips for plot) वास्तु शास्त्र के अनुसार प्लॉट खरीदते या बनवाते समय दो मुख्य बातों का ध्यान रखना जरूरी है, प्लॉट का सही आकार और सही दिशा। प्लॉट में सकारात्मक या नकारात्मक ऊर्जा, प्लॉट की मिट्टी, दिशा, स्थिति व आकार तय करती है।

नामांक बताएगा आपका भविष्य

नामांक भविष्यफल जानने का आसान तरीका
माना जाता है। अपना नामांक जानने के
लिए यहां अपना नाम दर्ज करें

Love Meter

लव मीटर

ताज़ा ख़बर

शब्दकोश

word of the day

सपनों का अर्थ