शनि देव के चमत्कारी उपायShani Dev Ke Chamatkaari Upay

शनि जयन्ती और भौम अमावस्या के सहयोग से करे ये खास उपास मिलेगा दुखो से छुटकारा:
शास्त्र के अनुसार ज्येष्ठ मास की अमावस्या को न्याय के राजा अर्थात शनिदेव का जन्मोत्सव शनि जयंति के उपलक्ष में मनाया जाता है। इस बार यह पर्व 15 मई मंगलवार को मनाया जाएगा। इस दिन सर्वार्थसिद्ध योग भी है, साथ ही वटसावित्री अमावस्या भी इसी दिन मनाई जाती है। यह अमावस्या मंगलवार को होने से भौमवती अमावस्या संयोग भी है। इतने संयोग एक साथ होने से यह अमावस्या बहुत खास है, जो लोग साढेसाती, शनि के ढैया या जन्मकुंडली में शनि की महादशा, अन्तर्दशा या शनि की खराब स्थिति के कारण पीडित चल रहे हैं। वे लोग इस खास योग में आ रही शनि जयंती पर शनि को प्रसन्न करने के उपाय अवश्य करें ।
1. शनि जयंती के दिन काला उडद, काला तिल, श्री फल और सरसो के तेल का दिपक किसी भी शनि मन्दिर में दान करे ऐसा करने से शनि महादषा में आराम मिलता है।
2. शनि जयंती पर पानी में काले तिल मिलाकर भगवान षिव का अभिषेक करने से शनि ग्रह की शांति होती है साथ ही राहु और केतु की महादषा में भी आराम मिलता है।
3. शनि जयंति के दिन रामायण के उत्तरकाण्ड का पाठ करने से शनि, राहु और केतु महादषा में आराम मिलता है।
4. भौम अमावस्या होने के कारण शनि जयंति के दिन अरण्यकाण्ड का पाठ करने से मंगल की महादषा में आराम मिलता है ।
5. जिन लोगो को शनि की साढेसाती या ढैया का प्रभाव है व शनि जयंती पर काले घोडे की नाल की अंगूठी बनवाकर अपनी मध्यमा अंगुली में धारण करें।
6. शनि जयंती के दिन शनिदेव का तेल से अभिषेक करे । तेल में काले तिल अवष्य डाले । साथ ही भगवान शनिदेव को नीले रंग के फूल भी अर्पित करे।
7. शनि जयंती के दिन वट वृक्ष का एक पत्ता घर ले आवे फिर पत्ते का गंगाजल से धो लेवे इसके बाद इस पत्ते पर हल्दी से स्वास्तिक बनावे इसके बाद विधिवत तरीके से पत्ते की पूजा करके धन स्थान पर रख देवे ऐसा करने से आर्थिक समस्या से छुटकारा मिलता है।
8. शनि जयंती के दिन राजा दषरथ कृत शनि स्त्रोत का पाठ करने से सभी कष्टो से छुटकारा मिलता है।
9. शनि जयंती पर कुष्ठ रोगियों को भोजन करवाने से शनि देव जल्दी प्रसन्न होते है।
10. शनि जयंती के दिन हनुमान जी महाराज को चमेली का तेल और बूंदी के लडडू अर्पित करने से हनुमान जी की कृपा दृष्टि प्राप्त होती है।
11. जिन लोगो की कुण्डली में पितृ दोष है वह जातक इस दिन अपने पितृ के निमित यथा शक्ति दान करके पितृ दोष मे आराम मिलता है साथ ही पितृ आर्षिवाद भी प्राप्त होता है।
12. शनि जयंती के दिन महामृत्युज्य मंत्र का जाप करने से समस्त दुखो से छुटकारा मिलता है और नवग्रहो के दोषो में भी आराम मिलता है।
13. धन लाभ पाने के लिए शनि जयंती के दिन पीपल के वृ़क्ष पर जल चढावे साथ ही दीप दान भी करे ऐसा करने से धन लाम होता है।
[+]

नामांक बताएगा आपका भविष्य

नामांक भविष्यफल जानने का आसान तरीका
माना जाता है। अपना नामांक जानने के
लिए यहां अपना नाम दर्ज करें

Love Meter

लव मीटर

ताज़ा ख़बर

शब्दकोश

word of the day