केतू ग्रह की शांति के उपाय

Ketu grah ki shanti ke upay
केतू ग्रह की शांति के उपाय

मनुष्य के जीवन में केतू गृह का विशेष प्रभाव रहता है इसलिए केतू गृह का शुभ होना आवश्यक होता है अगर किसी व्यक्ति का केतू अशुभ है तो उस व्यक्ति को जीवन अस्त व्यस्त रहता है इसलिए हमारे द्वारा बताये गए उपायों को करके अशुभ केतू के दोष प्रभाव को ख़त्म कर सकते है ।

1. यदि कुंडली में केतु अशुभ फल दे रहे हो तो बुधवार के दिन संध्या के समय लहसुनिया, तिल तेल, तिल के बीज, काला कंबल, कला वस्त्र, कस्तूरी, सात प्रकार का अन्न, केला, आदि किसी सात्विक ब्राह्मण को पूर्ण श्रद्धा से दक्षिणा सहित दान चाहिए, इससे केतु के अशुभ फल दूर होते है, शुभ फल मिलने लगते है।

2. केतु ग्रह को अपने अनुकूल करने के लिए बुधवार के दिन प्रात: जल में लाल चन्दन डालकर स्नान करने से केतु ग्रह के अनुकूल फल मिलते है।

3. नित्य मस्तक में केसर का टीका लगाएं और केशर का दान करे तथा शंक्रांति के समय छाया दान करें ।

4. केतु से बचने का सबसे अच्छा उपाय है हमेशा प्रसन्न रहना, जोर से हँसना... इससे केतु आपके मन को वश में नहीं कर पाएगा।

5. प्रतिदिन गणेशजी का पूजन-दर्शन करें। काले, सलेटी रंगों का प्रयोग न करें।

6. लहसुनिया पहनने एवं दान करने से भी केतु के अशुभ प्रभाव में कमी आती है।

7. नित्य केतु के बीज मंत्र ॐ ह्रीं ऐं केतवे नमः इस मंत्र का 108. (1.माला) बार जप करे।

संबंधित लेख

No stories found.