चंद्र ग्रह की शांति के उपाय
ज्योतिषीय उपाय

चंद्र ग्रह की शांति के उपाय

Chandra Grah Ki Shanti Ke Upay

Sunil Bhatt

मनुष्य के जीवन में चंद्र गृह का विशेष प्रभाव रहता है इसलिए चंद्र गृह का शुभ होना आवश्यक होता है अगर किसी व्यक्ति का चंद्र अशुभ है तो उस व्यक्ति को जीवन अस्त व्यस्त रहता है इसलिए हमारे द्वारा बताये गए उपायों को करके अशुभ चंद्र के दोष प्रभाव को ख़त्म कर सकते है ।दानचन्द्रमा के नीच अथवा मंद होने पर शंख का दान करना उत्तम होता है। इसके अलावा सफेद वस्त्र, चांदी, चावल, भात एवं दूध का दान भी पीड़ित चन्द्रमा वाले व्यक्ति के लिए लाभदायक होता है। जल दान अर्थात प्यासे व्यक्ति को पानी पिलाना से भी चन्द्रमा की विपरीत दशा में सुधार होता है। अगर आपका चन्द्रमा पीड़ित है तो आपको चन्द्रमा से सम्बन्धित रत्न दान करना चाहिए। चन्दमा से सम्बन्धित वस्तुओं का दान करते समय ध्यान रखें कि दिन सोमवार हो और संध्या काल हो। ज्योतिषशास्त्र में चन्द्रमा से सम्बन्धित वस्तुओं के दान के लिए महिलाओं को सुपात्र बताया गया है अत: दान किसी महिला को दें। आपका चन्द्रमा कमज़ोर है तो आपको सोमवार के दिन व्रत करना चाहिए। गाय को गूंथा हुआ आटा खिलाना चाहिए तथा कौए को भात और चीनी मिलाकर देना चाहिए। किसी ब्राह्मण अथवा गरीब व्यक्ति को दूध में बना हुआ खीर खिलाना चाहिए। सेवा धर्म से भी चन्द्रमा की दशा में सुधार संभव है। सेवा धर्म से आप चन्द्रमा की दशा में सुधार करना चाहते है तो इसके लिए आपको माता और माता समान महिला एवं वृद्ध महिलाओं की सेवा करनी चाहिए।

कुछ मुख्य बिन्दु निम्न है-

1. व्यक्ति को देर रात्रि तक नहीं जागना चाहिए। रात्रि के समय घूमने-फिरने तथा यात्रा से बचना चाहिए। रात्रि में ऐसे स्थान पर सोना चाहिए जहाँ पर चन्द्रमा की रोशनी आती हो।

2. ऐसे व्यक्ति के घर में दूषित जल का संग्रह नहीं होना चाहिए।

3. वर्षा का पानी काँच की बोतल में भरकर घर में रखना चाहिए।

4. वर्ष में एक बार किसी पवित्र नदी या सरोवर में स्नान अवश्य करना चाहिए।

5. सोमवार के दिन मीठा दूध नहीं पीना चाहिए।

6. सफेद सुगंधित पुष्प वाले पौधे घर में लगाकर उनकी देखभाल करनी चाहिए।

क्या न करें:

ज्योतिषशास्त्र में जो उपाय बताए गये हैं उसके अनुसार चन्द्रमा कमज़ोर अथवा पीड़ित होने पर व्यक्ति को प्रतिदिन दूध नहीं पीना चाहिए। स्वेत वस्त्र धारण नहीं करना चाहिए। सुगंध नहीं लगाना चाहिए और चन्द्रमा से सम्बन्धित रत्न नहीं पहनना चाहिए।