जानें सपनों का मतलब Meaning of dreams (Dream Interpretation)

सपने भी कुछ कहते हैं: जानें सपनों का मतलब Meaning of dreams: An Overview on interpretation of dreams

विज्ञान के अनुसार रोज़मर्रा की ​ज़िंदगी में हमारी कुछ इच्छाएं अधूरी रह जाती हैं। यही इच्छाएं हमें अकसर सपने के रूप में ​दिखती हैं। लेकिन ज्योतिष शास्त्र मानता है कि सपने हमारे भविष्य का आइना होते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार हर सपने का मतलब या अर्थ (Sapno ka Matlab) होता है। कुछ सपनें हमारे भविष्य से तो कुछ बीते हुए पल की कहानी कहते हैं। सपनों की व्याख्या या स्वप्न फल (Swapan Phal) के बारें में मत्स्य पुराण में विस्तार से बताया गया है।

कब और कौन से सपने होते हैं पूरे Dream Interpretation in Hindi

मत्स्य पुराण के अनुसार स्वप्न फल से जुड़ी अहम जानकारी निम्न है:
माना जाता है कि अगर अच्छा सपना देखें तो उसके बाद सोना नहीं चाहिए। अच्छे सपने के बाद

  • उठकर भजन या चिंतन करना चाहिए और सबसे जरूरी अच्छे सपने किसी को नहीं बताना चाहिए।
  • सूरज उगने से कुछ पहले अर्थात ब्रह्म मुहूर्त में देखे गए सपने का फल 10 ​दिनों में सामने आ जाता है।
  • माना जाता है कि रात के पहले पहर में देखे गए सपने का फल एक साल बाद, दूसरे पहर में देखे सपने का फल 6 महीने बाद आता है।
  • तीसरे पहर में देखे सपने का फल 3 महीने बाद और आ​खिरी पहर के सपने का फल एक महीने में सामने आता है। ​
  • दिन के सपनों पर ध्यान नहीं देना चाहिए।

क्या करें जब बुरा सपना आए? Remedies of Bad Dreams

मत्स्य पुराण के अनुसार बुरा सपना आए तो निम्न उपाय करने चाहिए:

  • सबसे पहले तो बुरा सपना आए तो सुबह उठते ही किसी को जरूर बता देना चाहिए।
  • इसके बाद स्नान कर के शिवजी का ध्यान करते हुए तुलसी के पौधे को पानी देना चाहिए। पानी देते समय तुलसी के पौधे के सामने अपना सपना कह देना चाहिए।

नामांक बताएगा आपका भविष्य

नामांक भविष्यफल जानने का आसान तरीका
माना जाता है। अपना नामांक जानने के
लिए यहां अपना नाम दर्ज करें

Love Meter

लव मीटर

ताज़ा ख़बर

शब्दकोश

word of the day