वार्षिक राशिफल Yearly Rashiphal

परिवार और मित्र: वर्ष के प्रारम्भ में पारिवारिक जीवन में कुछ समस्याएं आने वाली है इसका मुख्य कारण है कि सप्तम भाव जो कि पत्नी का भाव है उसमे मंगल ग्रह स्थित होगा। अतः आपके पारिवारिक जीवन में परेशानी बनी रहेगी। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः।।

परिवार और मित्र: नए वर्ष में आपका पारिवरिक जीवन सामान्य रहने वाला है। परिवार के सभी लोगो से स्नेह और सौहार्द का वातावरण बनाये रखने में आपकी अहम भूमिका होगी इस बात का ध्यान रखे। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः।।

परिवार और मित्र: इस साल आपका पारिवारिक जीवन अच्छा रहेगा। पत्नी / पति के साथ रिश्तो में प्रगाढ़ता आएगी। परन्तु ये न सोचे की केवल प्यार ही प्यार होगा आपसी मनमुटाव भी होगा। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः।।

परिवार और मित्र: इस साल आपको पारिवारिक जीवन में परेशानी आएगी। पत्नी का स्वास्थ्य खराब होगा या किसी न किसी बात को लेकर लड़ाई झगड़ा संभव है। साल के शुरुआत में संतान को लेकर कोई समस्या आ सकती है। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ श्रां श्रीं श्रौं सः चंद्रमसे नमः।।

परिवार और मित्र: यह साल आपको नई उचाईयों पर ले जाने वाला है त्रिकोण का स्वामी गुरु तृतीय भाव में बैठा है और सप्तम दृष्टि से अपने भाग्य स्थान को देख रहा है। आपको संतान पक्ष से शुभ समाचार मिल सकता है। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ ह्रां ह्रीं ह्रौं सः सूर्याय नमः।।

परिवार और मित्र: पारिवारिक जीवन के दृष्टिकोण से नया साल आपको मिश्रित फल देने वाला है। परिवार के सदस्यों तथा सगे सम्बन्धियों के साथ रिश्तो में कुछ कड़वाहट होगी। वैचारिक मतभेद होने से तो कोई रोक नहीं सकता। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः।।

परिवार और मित्र: तुला राशि वालो के लिए शनि चतुर्थेश और पंचमेश होने के कारण योगकारक ग्रह है और योगकारक होकर तृतीय स्थान में बैठा है अतः आप आपका गृह परिवर्तन संभव है और यह परिवर्तन घर में उपस्थित सदस्यों भाई-बहन के साथ अच्छा सम्बन्ध नहीं होने के कारण हो सकता है। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ द्रां द्रीं द्रौं सः शुक्राय नमः।।

परिवार और मित्र: इस वर्ष आपको पारिवारिक जीवन मे आनन्द मिलने वाला है। भाई-बहन (Brother-Sister) के साथ आपके रिश्ते सामान्य रहेंगे। उनके साथ आपको घुमने का भी मौका मिलने वाला है तथा उनके ऊपर आपको खर्च भी करने का मौका मिलेगा। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ क्रां क्रीं क्रौं सः भौमाय नमः।।

परिवार और मित्र: धनु राशि का स्वामी गुरु लाभ स्थान में बैठकर संतान तथा विवाह भाव को देख रहा है यदि आप विवाह के लिए इच्छुक है तो आपकी शादी हो जायेगी और यदि आप संतान के लिए इच्छुक है तो संतान का सुख मिलेगा कितना अच्छा योग आपके लिए इस वर्ष बन रहा है पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरुवे नमः।।

परिवार और मित्र: शनि आपके लिए लग्नेश तथा मारकेश दोनों है और यदि जन्म कुन्डली में शनि की महादशा या अन्तर्दशा चल रही हो तो आपको ज़्यादा सतर्क रहने की जरूरत है। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः।।

परिवार और मित्र: इस वर्ष आप अपनी इच्छा को पूर्ति करने के लिए वह सब करेंगे जो करना चाहिए और उसमे आपको सफलता भी मिलेगी। इस साल आप ऐसा कार्य करेंगे जो आपके जीवन के लिए मिल का पत्थर साबित होगा। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः।।

परिवार और मित्र: आपके राशि का स्वामी मध्य अक्टूबर तक तुला राशि में तथा अष्टम भाव में बैठा है और यह इसके कारण आपके कार्यो में रुकावट आ सकती है, जिसके वजह से चिड़चिड़ापन बढ़ेगा उसे संभालने का प्रयास करें। पूरा पढ़ें»

मंत्र जाप: ऊँ ग्रां ग्रीं ग्रौं सः गुरुवे नमः।।


नामांक बताएगा आपका भविष्य

नामांक भविष्यफल जानने का आसान तरीका
माना जाता है। अपना नामांक जानने के
लिए यहां अपना नाम दर्ज करें

Love Meter

लव मीटर

ताज़ा ख़बर

शब्दकोश

word of the day