Go To Top
Raftaar HomeRaftaar Home
Menu
Search
Menu
close button
Yantra

वैदिक यंत्रVedic Yantra

Feng Shui tips

भारतीय ज्योतिष विद्या में ग्रहों की शांति और मनचाहे फल पाने के लिए कई चमत्कारी उपायों का वर्णन किया गया है। इन्हीं उपायों में से एक यंत्रो (Yantra mat) का इस्तेमाल करना है।
यंत्र क्या होते हैं? (What Is Yantra) : जब किसी कागज, भोजपत्र या किसी अन्य सतह पर मंत्र या तंत्र को गणितीय प्रणाली से चित्रों द्वारा दर्शाया जाता है तो वह एक यंत्र कहलाता है। मान्यता है कि यंत्रों में मंत्रों के साथ दिव्य अलौकिक शक्तियां समाई होती हैं। इनके द्वारा इंसान अपनी इच्छानुसार संसारिक शक्तियां ग्रहण कर सकता है।
Types of Yantra: यंत्र कई प्रकार के होते हैं जैसे श्री यंत्र, संतान प्राप्ति के लिए गोपाल संतान यंत्र, धन प्राप्ति के लिए कुबेर और धनलक्ष्मी यंत्र आदि। कुछ यंत्र वैदिक तो कुछ तांत्रिक होते हैं। यंत्रों में सबसे अधिक महत्व इसमें लिखे अंको और मंत्रो का होता है। इन्हीं अंको के आधार पर इन यंत्रो की उपयोगिता होती है। इस श्रृंखला में आपको केवल वैदिक यंत्रों से परिचित कराएंगे जैसे:
काल सर्प यंत्र (Kaal Sarp Yantra), कुबेर यंत्र (Kuber Yantra), गणेश यंत्र (Ganesh Yantra), संतान गोपाल यंत्र (Gopal Santan Yantra), नवग्रह यंत्र (Navgrah Yantra), सम्मोहन या आकर्षण यंत्र (Sammohan or Aakarshan Yantra), नवदुर्गा यंत्र (Navdurga Yantra), श्री यंत्र (Shree Yantra) आदि।

Raftaar.in