Go To Top
Raftaar HomeRaftaar Home
Menu
Search
Menu
close button
Sukh Shanti Ke Liye Upay

घर की सुख शांति के उपाय

शुभ कार्य में बाधा आती हो या विलम्ब होता हो तो रविवार को भैरो जी के मन्दिर में सिंन्दुर का चोला चढा कर बटुक भैरव स्त्रोत का एक पाठ करके गाय, कौओ और काले कुत्तो को उनकी रूचि का पदार्थ खिलाना चाहिए ऐसा वर्ष में 4-5 बार करने से कार्य की बाधाए नष्ट हो जाएगी ।
संकट निवारण के लिए भगवान गणेष की मूर्ति पर कम से कम 21 दिन तक थोडी थोडी जावित्री चढाये और रात को सोते समय थोडी सी जावित्री खाकर सोये । यह प्रयोग 21, 42 या 84 दिनों तक करें सकट निर्वाण होकर लाभ मिलेगा।
अगर अधिक कमाई के भी धन संचय नही होता है या पैसा टिकता नही है ऐसे में जब भी गेंहॅू पिसवाने जाए तो उससे थोडे से गेहॅू में 11 पत्ते तुलसी तथा 2 दाने केसर डाल कर मिला ले अब बाकी गेहॅू में मिलाकर पिसवाने चाहिए यह प्रयोग सोमवार या शनिवार को करे इससे धन की कमी नही होगी ।
शनिवार को खाने में किसी भी रूप में काला चना अवष्य ले लिया करे ऐसा करने से शनि के दोषो में आराम मिलता है।
यदि पर्याप्त धनार्जन के पष्चात भी धन संचय नही हो रहा हो तो काले कुत्ते को प्रत्येक शनिवार को कडवे तेल (सरसो के तेल) से चुपडी रोटी खिलाए।
संध्या के समय सोना, पढना और भोजन करना निषेध है सोने से पहले पैरो को ठंडे पानी में धोना चाहिए किन्तु गीले पैर नही सोना चाहिए इससे धन का क्षय होता है।
रात्रि में चावल रही और सत्तू का सेवन करने से लक्ष्मी का निरादर होता है।
भोजन सदैव पूर्व या उत्तर की और मुख करके करना चाहिए और साथ ही राहु भी शांत हो जाता है।
किसी कार्य की सि़द्ध के लिए जाते समय घर से निकलने से पूर्व ही अपने हाथ में रोटी ल ले । मार्ग में जहां भी कौए दिखाई दे वहां उस रोटी के टुकडे कर डाल दे और आगे बढ जाए इससे सफलता प्राप्त होती है।
अपने घर की उत्तर की दिवार पर इन्द्र जाल लगाने से घर की नकारात्मकता नष्ट होती है।
ज्योतिषाचार्य आचार्य भारत जी व्यास, महर्षि व्यास ज्योतिष केंद्र (+91-8696840491)