Go To Top
Raftaar HomeRaftaar Home
Menu
Search
Menu
close button

लाल किताब

Lal Kitab and Remedies

Lal Kitab is an important sacred text in the field of astrology that provides remedies based on an individual’s horoscope. The most valuable aspect of the book is that the solution it offers can be accomplished with ease, posing no difficulty. Neither do the remedies pose any threat to the practitioner. The therapies mentioned in the Lal Kitab include methods such as, petting a black dog, feeding crows, worshiping trees, etc. which helps control the adverse effects of the planetary system. But it is important to consult an astrologer before indulging in such practices and you can also get your daily, weekly, monthly and yearly horoscope based on the findings of the Lal Kitab.

Monthly Prediction

Lal Kitab Kundali in Hindi (लाल किताब कुंडली)

Lal Kitab Remedies in Hindi (हिन्दी में लाल किताब के उपाय)

लाल किताब आज ज्योतिष जगत में बेहद प्रसिद्ध है। इसमें वर्णित सरल और बेहद सटिक उपाय इसकी लोकप्रियता की एक अहम वजह है। मूलतः लाल किताब (Lal Kitab) ज्योतिषविद्या की एक स्वतंत्र और मौलिक पुस्तक है जिसका समय-समय पर विभिन्न भाषाओं मे अनुवाद (Translation) होता रहा है। इस महाग्रंथ की रचना पंडित रूपचंद जोशी ने की थी। उन्होंने अपने अनुभवों और विभिन्न शोधों द्वारा लाल किताब (Lal Kitab in Hindi) में ज्योतिष की विभिन्न शाखाओं जैसे हस्त रेखा ज्ञान (Palmistry), सामुद्रिक शास्त्र (Samudrik Sastra), जन्मकुन्डली (Kundali) आदि को मिला कर भविष्य कथन और ग्रहों के दोष निवारण के लिए उपाय बताए थे। लाल किताब मूलतः उर्दू में लिखी गई थी। लाल किताब (Lal Kitab) की सबसे बड़ी विशेषता ग्रहों के दुष्प्रभावों से बचने के लिए जातक को आसान उपायों का सहारा लेना और सही आचरण अपनाने का संदेश देना है। लाल किताब के उपाय इतने सरल हैं कि कोई भी जातक इनका सुविधापूर्वक सहारा लेकर अपना कल्याण कर सकता है। लेकिन याद रखें कि यह उपाय (Lal Kitab remedies in Hindi) सिर्फ ग्रहों के कष्ट कारी प्रभावों को नियंत्रित करते हैं। काला कुत्ता पालना, कौओं को रोटी खिलाना, किसी वृक्ष को जल अपर्ण करना, कुछ अन्न या सिक्के पानी में बहाना जैसे सरल उपाय लाल किताब में दिए गए हैं। परंतु, कोई भी उपाय करने से पहले इससे संबंधित ज्यो तिषी से परामर्श ज़रूर करना चाहिए। लाल किताब के आधार पर जन्म कुंडली बनवाकर आप दैनिक, साप्तारहिक, मासिक या वार्षिक राशिफल भी जान सकते हैं।

Raftaar